पंडोखर सरकार कहां पर है 2022

आज के इस प्रकाशन के माध्यम से हम जानेंगे की श्री पंडोखर सरकार कहां पर है अर्थात् pandokhar sarkar kahan per hai पंडोखर धाम जाने का रास्ता क्या हैं तथा पंडोकर सरकार की फीस कितनी हैं पंडोखर धाम मध्य प्रदेश राज्य के दतिया जिले की भांडेर तहसील में स्थित एक हनुमान जी महाराज का मंदिर हैं जिसे हनुमान पण्डोखर धाम कहते हैं।

पंडोखर धाम सरकार दतिया झांसी

पंडोखर धाम सरकार में पंडित श्री गुरु शरण जी महाराज लोगो की समस्याओं का समाधान करते हैं चाहे समस्या भूत प्रेत की हो या कोई ओर प्रकार की गुरु जी उसे दूर करते हैं इसके अलावा गुरु जी व्यक्ति का भूत,वर्तमान और भविष्य भी बता देते हैं गुरु देव श्री गुरु शरण जी का जन्म मध्य प्रदेश के भिंड जिले में हुआ था जो दतिया के पास ही हैं।

01गुरुजीगुरु शरण महाराज
02स्थानपंडोखर धाम
03पिनकोड471301
04जिलादतिया
05तहसीलभांडेर

पंडोखर सरकार कहां है कैसे जाए

पंडोखर धाम जी कहां हैं तो यह धाम मध्य प्रदेश के दतिया जिले की भांडेर तहसील से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं यहां पर भगवान हनुमान जी महाराज का मंदिर है इसीलिए इसे पंडोखर धाम हनुमान जी के नाम से भी जानते हैं। यहां की महिमा बहुत ही चमत्कारिक हैं तथा इस जगह का उल्लेख महाभारत में भी किया गया हैं।

पंडोखर धाम सरकार में भक्त अपनी कोई भी समस्या लेकर आ सकते हैं उसका समाधान पंडित श्री गुरुशरण महाराज जी द्वारा जरूर किया जाएगा एसी महाराज पर हनुमान जी महाराज की कृपा महाराज जी पर हैं पंडोखर धाम सरकार का दरबार हर महीने की अमावस्या से पुर्णमा तक चलता हैं इस बीच भक्त अपनी समस्या लेकर श्री पंडोखर धाम सरकार दतिया में आ सकते हैं।

यदि किसी भक्त की अर्जी उसी दिन नही लग पति हैं तो वह भक्त पंडोखर धाम में रुक भी सकता हैं पंडोखर सरकार में भक्तो के भोजन के लिए भंडारे चलते रहते हैं जिससे भक्तो को यहां पर खाने और रहने की कोई भी परेशानी नहीं होगी।

पंडोखर धाम जाने का रास्ता – कैसे पहुंचे

पंडोखर धाम आप दतिया और झांसी उत्तर प्रदेश दोनो जगह से पहुंच सकते हो दतिया से पंडोखर धाम की दूरी 51 किलोमीटर तथा झांसी रेलवे जंक्शन से पंडोखर धाम की दूरी 74 किलोमीटर की है।

झांसी से पंडोखर धाम सरकार

झांसी रेलवे स्टेशन से पण्डोखर धाम सरकार जाने के लिए आप सबसे पहले भांडेर तहसील जायेगे जो दतिया जिला की तहसील से और झांसी से लगभग 54 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं इसके बाद आप चंद्रोल,और बिसाल पूरा होते सीधे पण्डोखर धाम पहुंच जायेंगे।

दतिया से पंडोखर धाम कैसे जाए

दतिया से भी पंडोखर धाम जाने के लिए आपको सबसे पहले भांडेर जाना होगा जिसकी दतिया से 31 किलोमीटर की दूरी हैं उसके बाद चंद्रोल,और बिसाल पूरा होते हुए आप श्री पंडोखर धाम पहुचेंगे।

पंडोखर धाम कॉन्टैक्ट मोबाइल नंबर

वैसे तो दतिया और झांसी दोनो जगह से पंडोखर धाम जाने के लिए अनेकों गाडियां चलती हैं लेकिन फिर भी यदि आपको कुछ समझ में नहीं आ रहा तो आप पंडोखर धाम के द्वारा भक्तो के लिए एक मोबाइल नंबर दिया गया हैं जिससे आप धाम के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ले सकते हैं और झांसी ,या दतिया से पण्डोखर धाम तक पहुंचने के लिए भी इस कॉन्टैक्ट नंबर का उपयोग कर सकते हैं धाम का कॉन्टैक्ट नंबर 9958273274 हैं।

पंडोखर सरकार की फीस कितनी है।

पंडोखर धाम में यैसे भक्त जो महाराज जी से अपने जीवन की समस्या को दूर करवाना चाहते हैं अर्थात अपनी अर्जी लगवाना चाहते हैं उन्हें सबसे पहले अपनी टिकट को खरीदना होगा इसके बाद आपकी अर्जी लगेगी।

टिकट आप 2100 से 11000 रुपए की खरीद सकते हैं इस प्रकार के भक्त जिन्हे पंडोखार धाम में अपनी अर्जी जल्दी लगवानी है। वो 11000 रुपए की टिकट खरीद सकते हैं तथा जिन्हे जल्दी नहीं हैं वो 2100 रुपए की टिकट खरीद सकते हैं।यह आपके सामर्थ पर निर्भय करता हैं।

पंडोखर धाम में भक्तो और श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण यदि आप 2100 रुपए की टिकट खरीदते हैं तो 4 – 5 दिन का समय लग सकता हैं इन दिनों में आप pandokhar dham में रह सकते हैं यहां पर भक्तो के लिए भोजन और रहने की सुविधा हैं।और यह टिकट द्वारा रुपए भक्तो की ही सुविधा भोजन और रहने के लिए लिया जाता है।

पंडोखर धाम की महिमा और पर्चा

पंडोखर धाम में जिस भक्त की अर्जी लगती हैं महाराज श्री गुरुशरण जी उसका पर्चा पहले ही बना देते हैं उस पर्चे में उसके द्वारा जो भी प्रश्न पूछे जाएंगे वह उसके समाधान सहित पहले ही पर्चे में लिख दिया जाता हैं यह पंडोखर धाम सरकार की महिमा हैं।इसके बाद भक्त महाराज जी से अपने प्रश्न और समस्याओं को बताता हैं महाराज जी उसका समाधान करते हैं।

पंडोखर धाम में पैसा रुपया क्यों लगता हैं।

पहले के समय अर्थात् आज के 10-12 बर्ष पहले जब भक्तो की भीड़ ज्यादा नहीं थी तब pandokhar dham में भक्तो से 10 रुपए लिए जाते थे लेकिन अब भक्तो की भीड़ को देखते हुए उनके भोजन के लिए भंडारे तथा रहने के लिए उपयुक्त निवास स्थान प्रधान करने के लिए भक्तो से यह रुपए लिए जाते हैं इसे आप एक प्रकार से पंडोखर धाम के लिए दान कह सकते हैं।

Leave a Comment