उत्तराखंड के 13 जिलों के नाम in hindi 2022

भारत का 27 बा उत्तराखंड है आज हम जानेंगे उत्तराखंड के 33 जिलों के नाम अर्थात uttrakhand ke jilon ke naam list pdf भारत के इस राज्य का गठन 09 नवंबर 2000 को किया गया था।राज्य का विस्तार 28°43′ से 31°27′ उत्तरी अक्षांश तक तथा 77°34′ से 81°02′ पूर्वी देशांतर तक है राज्य की सीमा 02 तथा दो देशों से लगती है।

उत्तराखण्ड राज्य की सीमा दो राज्यों और दो देशों से लगती है उनके नाम है हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश तथा नेपाल और तिब्बत (चीन) देश से लगी हुई है।

उत्तराखंड को 27वा राज्य बनाने के लिए 10 अगस्त 2000 को लोकसभा में तथा इसके बाद 28 अगस्त 2000 को राज्य सभा में प्रस्ताव पास किया गया था इसके बाद तब के राष्ट्रपति के आर नारायणन के हस्ताक्षर के बाद 09 नवंबर 2009 को अलग राज्य के रूप में भारत का 27वा राज्य घोषित किया गया।

उत्तराखंड के 13 जिलों के नाम

उत्तराखंड राज्य के 13 जिलों के नाम

क्रमांक जिला (हिंदी) District (English)
01 अल्मोड़ा Almora
02 बागेश्वर Bageshwar
03 नैनीताल Nainital
04 उधम सिंह नगर Udham Singh Nagar
05 चंपावत Champawat
06 पिथोरागढ़ Pithoragarh
07 हरिद्वार Haridwar
08 देहरादून Dehradun
09 पौड़ी गढ़वाल Pouri Garhwal
10 चमोली Chamoli
11 रुद्रप्रयाग Rudraprayag
12 टिहरी गढ़वाल Tehri Garhwal
13 उत्तरकाशी Uttarkashi

उत्तराखंड का कौन सा जिला कब और कैसे बनाया गया।

वर्ष 1854 में बना कुमाऊं मंडल के अंतर्गत वर्तमान उत्तराखंड के देहरादून को छोड़कर सभी जिले इसके अंतर्गत आते थे। तब उसमे कुल सात जिले शामिल थे जिनके नाम है चमोली, पौड़ी गढ़वाल, टिहरी गढ़वाल,उत्तरकाशी,नैनीताल, अल्मोड़ा,और पिथोरागढ़ तथा देहरादून मेरठ मंडल का हिस्सा हुआ करता था इस प्रकार तब वर्तमान उत्तराखंड के 08 जिले थे जिसमे से 07 जिले कुमाऊं मंडल में तथा एक जिला मेरठ मंडल में हुआ करता था।

वर्ष 1969 में गढ़वाल मंडल बना जिसमे कुमाऊं मंडल के चार जिले चमोली, पौड़ी गढ़वाल,टिहरी गढ़वाल और उत्तरकाशी को शामिल किया गया इस प्रकार वर्ष 1969 में कुमाऊं मंडल में 03 जिले तथा गढ़वाल मंडल में 04 जिले थे बाद में वर्ष 1975 में देहरादून को मेरठ मंडल से गढ़वाल में शामिल किया गया इस प्रकार गढ़वाल मंडल में कुल 05 जिले हो गए।

इसके पश्चात वर्ष 1994 में उधम सिंह नगर जिला बना जो कुमाऊं मंडल का हिस्सा बना तथा बाद में फिर से वर्ष 1997 में तीन जिले रुद्रप्रयाग चम्पावत और बागेश्वर जिला बना चम्पावत और बागेश्वर कुमाऊं मंडल में शामिल हुए तथा रुद्रप्रयाग गढ़वाल मंडल का हिस्सा बना इस प्रकार गढ़वाल और कुमाऊं मंडल में वर्ष 1997 तक छह छह जिले थे।

इसके बाद हरिद्वार को अलग जिला बनाया गया जो गढ़वाल मंडल का हिस्सा बना इस प्रकार गढ़वाल मंडल में 07 जिले तथा कुमाऊं मंडल में 06 शामिल हुए।

वर्ष 09 नवंबर 2000 को उत्तराखंड राज्य की स्थापना की गई यह भारत का 27वा राज्य बना तब इसका नाम उत्तरांचल रखा गया था तथा नित्यानंद स्वामी को अंतरिम मुख्यमंत्री बनाया गया राज्य का पहले निर्वाचित मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी जी है।

उत्तराखंड की स्थापना के बाद सबसे ज्यादा परेशानी इसकी राजधानी को लेकर हुई की राज्य की राजधानी किस जिले अथवा शहर को बनाया जाय तब देहरादून को राज्य की अस्थाई राजधानी बनाया गया जिसका विरोध में कई आंदोलन हुई इन आंदोलन में सबसे प्रसिद्ध आंदोलन बाबा मोहन उत्तराखंडी का है जिन्होंने 02 मार्च 2004 को चमोली जिले से आंदोलन शुरू किया यह उनका 13बा आंदोलन तथा वे गैरसैंड को उत्तराखंड की राजधानी बनाना चाहते थे लेकिन इसी आंदोलन के दौरान 08 अगस्त 2004 को वे शाहिद हो गए।

इसके बाद जनवरी 2007 में स्थानीय लोगो की मांग पर राज्य का नाम उत्तरांचल से उत्तराखंड कर दिया गया इसके पहले इसे उत्तरांचल कहा जाता था 04 मार्च वर्ष 2020 में बाबा उत्तराखंडी का सपना पूरा हुआ तथा गैरसैंड को उत्तराखंड की अस्थाई ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित गया तथा देहरादून को शीतकालीन राजधानी बनाया गया। दो राजधानी बनाने बाला उत्तराखंड पांचवा राज्य बना इससे पहले जम्मू & कश्मीर,हिमाचल,महाराष्ट्र और आंध्रप्रदेश दो राजधानी बना चुके थे।

गैरसैंड के राजधानी बनने के ठीक एक वर्ष बाद 04 मार्च 2021 को गैरसैंड को तीसरा मंडल घोषित किया इसमें दो जिले रुद्रप्रयाग और चमोली को गढ़वाल मंडल से तथा अल्मोड़ा और बागेश्वर को कुमाऊं मंडल से शामिल किया गया इस प्रकार गढ़वाल मंडल में 05 जिले कुमाऊं मंडल में 04 जिले तथा गैरसैंड मंडल में 04 जिले है।

यह भी पढ़िए।

मध्यप्रदेश के 55 जिलों के नाम

उत्तर प्रदेश के 75 जिलों के नाम

उत्तराखंड के 13 जिले और उनके मंडल के नाम

क्रमांक मंडल नाम जिला का नाम
01 कुमाऊं मंडल नैनीताल,पिथोरागढ़,चम्पावत, उधम सिंह नगर
02 गढ़वाल मंडल पौड़ी गढ़वाल, टिहरी गढ़वाल,उत्तरकाशी,देहरादून और हरिद्वार
03 गैरसैंड मंडल चमोली,रुद्रप्रयाग,अल्मोड़ा और बागेश्वर

उत्तराखंड के 13 जिलों के नाम और आरटीओ नंबर लिस्ट

क्रमांक District Name RTO code
1 Almora UK–01
2 Bageshwar UK–02
3 Champawat UK–03
4 Nainital UK–04
5 Pithoragarh UK–05
6 Udham singh nagar UK–06
7 Dehradun UK–07
8 Haridwar UK–08
9 Rudraprayag UK–13
10 Chamoli UK–11
11 Pouri Garhwal UK–12
12 Tehri Garhwal UK–09
13 Uttarkashi UK–10

उत्तराखंड के सबसे अधिक जनसंख्या वाले जिले

उत्तराखंड राज्य की कुल जनसंख्या 10086292 थी 2011 की जनगणना के अनुसार जो की भारत की जनसंख्या की 0.83% थी।इसमें पुरषों की जनसंख्या 5137773 थी तथा महिलाओं की जनसंख्या 4948519 थी।राज्य का सबसे अधिक आबादी बाला जिला का नाम हरिद्वार है जहां की कुल जनसंख्या 1890422 थी तथा राज्य का सबसे छोटा जिला रुद्रप्रयाग था जहां की आबादी 242285 थी।

उत्तराखंड के सबसे कम और ज्यादा साक्षरता वाले जिले।

उत्तराखंड राज्य की औसत साक्षरता 2011 की जनगणना में कुल 78.82% थी जिसमे पुरुष साक्षरता 87.40% तथा महिलाए साक्षरता 70.00% थी। उत्तराखंड राज्य में सबसे अधिक साक्षरता वाला जिला देहरादून हैं जहां की कुल साक्षरता दर 84.25 %है | और वहीं बात करे उत्तराखंड राज्य के सबसे कम साक्षरता वाले जिले की तो उद्यम सिंह नगर जिले का नाम आता हैं जहां की कुल साक्षरता दर 73.10% हैं|

उत्तराखण्ड के सबसे ज्यादा और कम जनसंख्या घनत्व वाला जिला

अब हम आपको उत्तराखंड राज्य के घनत्व के बारे मे बताते है| उत्तराखंड राज्य का औसत घनत्व 189 व्यक्ति/वर्ग किलोमीटर है| उत्तराखंड राज्य में सबसे अधिक जनसंख्या घनत्व वाले जिलों में हरिद्वार जिले का नाम सबसे ऊपर आता हैं जहां का औसत घनत्व 801 व्यक्ति/वर्ग किलोमीटर है | और बात करे उत्तराखंड राज्य में सबसे कम जनसंख्या घनत्व वाले जिले की तो उत्तरकाशी जिले का नाम आता हैं जहां का औसत जनसंख्या घनत्व 47व्यक्ति/वर्ग किलोमीटर है

उत्तराखंड के क्षेत्रफल के अनुसार सबसे बड़े और छोटे जिले

उत्तराखंड राज्य का कुल क्षेत्रफल 53483 वर्ग/किलोमीटर है| उत्तराखंड राज्य में सबसे अधिक क्षेत्रफल वाला जिला चमोली है जहां का कुल क्षेत्रफल 8030 वर्ग/किलोमीटर है और उत्तराखंड राज्य में सबसे कम क्षेत्रफल वाला जिला चंपावत है जहां का कुल क्षेत्रफल 1766/वर्ग किलोमीटर है

लिंगानुपात में सबसे कम और ज्यादा वाले जिले का नाम

चलिए अब हम जानते है उत्तराखंड राज्य के लिंगानुपात के बारे मे ,उत्तराखंड राज्य का कुल लिंगानुपात 963 हैं| जिसमे से राज्य में सबसे अधिक लिंगानुपात बाला जिला अल्मोड़ा है जहां का लिंगानुपात 1139 हैं | और वही बात करे राज्य के सबसे कम लिंगानुपात वाले जिले की तो हरिद्वार जिले का नाम आता है जहां का लिंगानुपात 880 हैं।

उत्तराखंड के जिलों से सीमा लगाने वाले राज्य और देश

उत्तराखंड के जिलों से दो राज्य हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश तथा दो देश नेपाल और तिब्बत (चीन) सीमा साझा करता है।उत्तखंड के 13 जिलों में से 09 जिले दूसरे राज्य या देश से सीमा साझा करते है।उनके नाम इस प्रकार है।

क्रमांक देश/राज्य जिलों के नाम
01 नेपाल उधम सिंह नगर,चंपावत,पिथौरागढ़
02 तिब्बत(चीन) पिथौरागढ़,चमोली,उत्तरकाशी
03 उत्तर प्रदेश देहरादून,हरिद्वार, पोड़ी,नैनीताल,उधम सिंह नगर
04 हिमांचल प्रदेश उत्तरकाशी,देहरादून

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून है इसे उत्तराखंड के 04 जिले हरिद्वार, पोड़ी, टिहरी,और उत्तरकाशी से सीमा साझा करता है इसके अलावा 04 जिले याइसे भी है जो पूर्णता आंतरिक है जिनके नाम है अल्मोड़ा,बागेश्वर,रुद्रप्रयाग और टिहरी ये जिले किसी भी राज्य अथवा देश से सीमा साझा नहीं करते है।

उत्तराखंड के बारे में सामान्य जानकारी।

1 स्थापना 09 नवंबर 2000
2 प्रथम मुख्यमंत्री नित्यानंद स्वामी
3 वर्तमान मुख्यमंत्री After 10 may 2022
4 प्रथम राज्यपाल सुरजीत सिंह बरनाला
5 वर्तमान राज्यपाल गुरमिट सिंह
6 क्षेत्रफल 53483
7 जनसंख्या 10086292(0.83%)
8 साक्षरता 78.82%
9 जनसंख्या घनत्व 189 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर
10 लिंगानुपात 963
11 सीमा राज्य हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश
12 सीमा देश नेपाल और तिब्बत (चीन)
13 कुल जिले 13
14 कुल मंडल 03
15 कुल विधानसभा सीट 71
16 राज्यसभा सीट 03
17 लोकसभा सीट 05
18 उच्च न्यायालय नैनीताल
19 राजकीय पशु कस्तूरी मृग
20 राजकीय पुष्प ब्राहा कमल
21 राजकीय पंक्षी मोनाल
22 राजकीय ब्रक्ष बुरांश
23 राजकीय भाषा हिंदी
24 महिला जनसंख्या 4948519
25 पुरुष जनसंख्या 5137773
26 महिला साक्षरता 70%
27 पुरुष साक्षरता 87.40%

आज के इस लेख में हमने जाना उत्तराखंड के 13 जिलों के नाम अर्थात uttrakhand ke jilon ke naam यदि इससे संबंधित कोई भी क्वेश्चन है तो आप कमेंट में पूछ सकते है।

1 thought on “उत्तराखंड के 13 जिलों के नाम in hindi 2022”

  1. Качественных онлайн-кинотеатров сегодня, конечно же, не хватает. Но, к счастью, недавно открылся новый – rezka.men. Хотя сайт достаточно молодой, там уже собрана большая база контента в качестве HD 720p и HD 1080p. Весь контент можно посмотреть абсолютно бесплатно, не нужно никакой регистрации. Всё, что я люблю! На сайте всегда можно посмотреть новый фильм. Всегда предпочитаю смотреть только тут. Всегда вовремя выкладывают все новинки и быстро обновляют серии и сезоны новых сериалов, никогда нигде не ищу. Всегда знаю, что если выходит что-то новое, здесь уже обязательно будет выложено.

    Reply

Leave a Comment