Bharat mein kul kitne rajya hai 2022

आज के इस लेख में हम जानेंगे की Bharat mein kul kitne rajya hai अर्थात भारत में कितने प्रदेश हैं।भारत की स्थिति विश्व में एशिया महाद्वीप के उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित है।भारत जनसंख्या में दूसरी सबसे बड़ा देश है भारत में कुल प्रदेशों की संख्या 28 हैं।

यहां का क्षेत्रफल 3287263 वर्ग किलोमीटर है। तथा भारत की कुल जनसंख्या की आबादी 01 मार्च 2011 तक 121193422 थी जिसमे से 62.3 करोड़ जनसंख्या पुरुषो की तथा 58.64 करोड़ जनसंख्या महिआलो की थी।एक रिपोर्ट के अनुसार संसार का हर छतवा व्यक्ति एक भारतीय होगा

भारत की जनसंख्या विश्व की जनसंख्या की लगभग 16% है तथा भारत का  क्षेत्रफल विश्व के क्षेत्रफल का सिर्फ 2.4% है जो एक चिंता का विषय है।चलिए जानते है।

Bharat mein kul kitne rajya hai – भारत में कितने प्रदेश हैं। 

Bharat mein kul 28 rajya hai अर्थात भारत में कुल 28 प्रदेश है। Bharat ke 28 rajya ke naam इस प्रकार है।

Bharat mein kul kitne rajya hai

 

क्रमांकप्रदेश का नाम Name of state
01राजस्थानRajasthan
02महाराष्ट्रMaharashtra
03नागालैंडNagaland
04मणिपुरManipur
05पश्चिम बंगाल West Bengal
06तेलंगानाTelangana
07असमAssam
08मध्य प्रदेश Madhya Pradesh
09त्रिपुराTripura
10आंध्रप्रदेशAndhra Pradesh
11तमिलनायडूTamil Nadu
12गुजरातGujarat
13सिक्कमSikkam
14पंजाबPunjab
15उत्तर प्रदेश Uttar Pradesh
16मेघालयMeghalaya
17कर्नाटकKarnataka
18गोवाGoa
19उत्तराखंडUttarakhand
20मिजोरमMizoram
21हरियाणाHaryana
22हिमाचल प्रदेशHimachal pardesh
23अरुणाचल प्रदेश Arunachal Pradesh
24झारखंडJharkhand
25छत्तीसगढ़Chhattisgarh
26बिहारBihar
27ओडिसाOdisha
28केरलKerala

Bharat mein kul kitne rajya hai और भारत का कौन सा प्रदेश कब बना।

01 नवम्बर 1956 तक अर्थात राज्य पुनर्गठन से पहले भारत में 14 राज्य और 06 केंद्र शासित प्रदेश थे इन प्रदेशों का नाम था बिहार,बॉम्बे,आंध्रप्रदेश,जम्मू और कश्मीर,असम,केरल,मद्रास,मध्यप्रदेश,मैसूर,उड़ीसा,पंजाब राजस्थान, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश इसके अलावा 06 केंद्र शासित प्रदेश थे जिनके नाम अंडमान निकोबार,दिल्ली, लकादिव मिनिकाय और अमीनीदीव,हिमाचल प्रदेश,मणिपुर,त्रिपुरा इस प्रकार पुनर्गठन से पहले Bharat mein kul rajya थे।

आंध्रप्रदेश ,जो 1953 में मद्रास से भाषा के आधार पर अलग हुआ था तथा भाषा के आधार पर अलग होना बाला यह प्रथम राज्य था।

Leave a Comment